कटिपिण्डमर्दनासन (katipindramdanasan) करने का विधि और लाभ


    कटिपिण्डमर्दनासन (katipindramdanasan) इस आसन में कटिप्रदेश (कमर के पास वाले भाग) में स्थित पिण्ड अर्थात मूत्रपिण्ड का मर्दन होता है, इससे यह आसन कटिपिण्डमर्दनासन कहलाता है। ध्यान स्वाधिष्ठान चक्र में। […]

Read Article →

Gyana Mudra/ज्ञान मुद्रा के विधि और लाभ !!


  Gyana Mudra ज्ञान मुद्रा के विधि और लाभ ! अंगूठे एवं तर्जनी अंगुली के स्पर्श से जो मुद्रा बनती है उसे ज्ञान मुद्रा कहते हैं | ज्ञान मुद्रा के […]

Read Article →

Linga Mudra/लिंग मुद्रा के विधि और लाभ !!


Linga Mudra लिंग मुद्रा के विधि और लाभ ! लिंग मुद्रा के विधि : 1.किसी भी ध्यानात्मक आसन में बैठ जाएँ | 2.दोनों हाथों की अँगुलियों को परस्पर एक-दूसरे में […]

Read Article →

Vayu Mudra/वायु मुद्रा के विधि और लाभ !!


Vayu Mudra वायु मुद्रा के विधि और लाभ ! वायु मुद्रा के विधि : 1.वज्रासन या सुखासन में बैठ जाएँ, रीढ़ की हड्डी सीधी एवं दोनों हाथ घुटनों पर रखें | हथेलियाँ उपर की ओर रखें […]

Read Article →

Apana Mudra/अपान मुद्रा के विधि और लाभ !!


Apana Mudra अपान मुद्रा के विधि और लाभ ! अपान मुद्रा के विधि 1. सुखासन या अन्य किसी आसान में बैठ जाएँ, दोनों हाथ घुटनों पर, हथेलियाँ उपर की तरफ […]

Read Article →