श्री गुरु स्तोत्रम् (Sri Guru Stotram) !!


  श्री गुरु स्तोत्रम् (Sri Guru Stotram)  || श्री महादेव्युवाच ||   गुरुर्मन्त्रस्य देवस्य धर्मस्य तस्य एव वा | विशेषस्तु महादेव ! तद् वदस्व दयानिधे || श्री महादेवी (पार्वती) ने कहा […]

Read Article →

सिद्धासन (Siddhasana) करने का विधि और लाभ !!


  सिद्धासन (Siddhasana) पद्मासन के बाद सिद्धासन का स्थान आता है। अलौकिक सिद्धियाँ प्राप्त करने वाला होने के कारण इसका नाम सिद्धासन पड़ा है। सिद्ध योगियों का यह प्रिय आसन […]

Read Article →

सर्वांगासन (Sarvangasana) करने का विधि और लाभ !!


  सर्वांगासन (Sarvangasana) भूमि पर सोकर शरीर को ऊपर उठाया जाता है इसलिए इसको सर्वांगासन कहते हैं। ध्यान विशुद्धाख्य चक्र में, श्वास रेचक, पूरक और दीर्घ। सर्वांगासन के विधि   भूमि पर बिछे हुए […]

Read Article →

हलासन (Halasana) करने का विधि और लाभ !!


  हलासन (Halasana) इस आसन में शरीर का आकार हल जैसा बनता है इसलिए इसको हलासन कहा जाता है।ध्यान विशुद्धाख्या चक्र में। श्वास रेचक और बाद में दीर्घ।  हलासन के विधि […]

Read Article →